टमाटर की खेती / tamatar ki kheti

टमाटर की खेती कैसे करे 

नमस्कार , मेरे किसान भाइयो आज में आपके लिए नयी जानकारी लेकर आया हु।  आज में आपको टमाटर की  जैविक खेती करने के बारे में बताऊंगा। आज में आपको ड्रिप से काम पानी में अधिक पैदावार कैसे ले सकते है उसके बारे में चर्चा करेंगे।  
tamatar ki kheti


ड्रीप से टमाटर की खेती कैसे करे 

   यदि आपके खेत में ड्रीप है या नहीं लेकिन में जानकारी के लिए बता दू की ड्रीप ड्रीप में 12 इंच पर छेद आते है।  और इन 12 इंच छेद के बीच लेफ्ट और राइट साइड 3 से 4 इंच तक आप टमाटर को  लगा सकते है।  हर एक छेद के दोनों तरफ आप  टमाटर लगादो।  आप ड्रीप के जरिए एक फसल में दो फसल भी लगा सकते हो।  टमाटर के दोनों तरफ आप कुछ लगा सकते हो जैसे हमने लगा दिया है प्याज।  इसमें टमाटर भी लग जायेंगे और प्याज़ भी हो जायेगा।  

टमाटर की जैविक खेती के लिए लगनेवाली सामग्री 

   टमाटर में जैविक और देसी दवा का छंटाकव करने के लिए आपको  सफ़ेद आंकड़ा , नीम की पत्तिया , धतूरा , अल्डुसो , और खीप लेनी है और तम्बाकू लेनी है। इन सभी पत्तियों को  5  किलोग्राम सामान मात्रा में इक्कठे करलीजिए।  जैसी आपकी जरूरियात उस तरह से पूरी वस्तुए ले लीजिए।  और तम्बाकू 250 से 500 ही रखिए।  

टमाटर की जैविक दवा बनाने का तरीका  

   हमने आपको ऊपर जो  बताई वह इक्कठी हो जाने के बाद आप इन सभी सामग्री को एक मशीन में डाल कर काट लो।  बारीक़ बारीक़ टुकड़े करने के बाद किसान भाइयो आप एक ड्रम रखिए और  ड्रम में आधा पानी भर लीजिए।  और उसके बाद आपने कटे हुए सारे पत्ते उस ड्रम  के अंदर डाल दीजिए। और उसके बाद ड्रम को  छाँव में रख दीजिए।  छाँव में रखने के बाद यह 4 से 5  दिन में यह जखार छोड़ने लग जायेगा। उसके वाद लकडिया लेके एक बड़ी सी भट्ठी  और एक बड़े बर्तन के अंदर ड्रम में बनाई हुई सामग्री  को गरम  करे।  पूरा गरम हो जाने के बाद उसका कलर हल्का पीला या फिर गौमूत्र जैसा दिखने लग जायेगा।  फिर धीरे धीरे गरम पानी को निकालके एक  लीजिये और उस गरम पानी को छाँव के अंदर ढँक कर रख देना है।  . 4 से 5 दिन के बाद इसमें 5 किलो काला  गुड़ आता है उसको पानी में भीगा लेने के बाद ड्रम में मिक्ष कर  देंगे।  इस दवा को जड़ो  यानि की ड्रिप की मदद से देने के लिए 50 लीटर पानी में 5 लीटर दवा मिलाओ और ड्रिप के माध्यम से इसको पौधों को दो।  

 टमाटर की जैविक दवा के फायदे 

   ड्रिप की मदद से यह जैविक दवा टमाटर में देने के कभी जड़ का रोग नहीं लगेगा।  आपका टमाटर है वह ज्यादा फूलेगा और पत्ते एकदम खुल्ले खुल्ले रहेंगे यह 100 % ऑर्गेनिक रहेगा।  दवाइयों  का खर्चा बच  जायेगा। इससे आपको बहुत सारा फायदा होगा।  

टमाटर में जैविक दवा का छंटकाव कैसे करे 

   टमाटर में जैविक दवा का छंटकाव करने के लिए छंटकाव करने की मशीन यानि जो पम्प आता है उसमे 15 लीटर पानी के अंदर 2 लीटर दवा को मिलाये और २ मिनिट के लिए उसको मिक्ष करे।  और पौधों के ऊपर हप्ते में 1 बार छंटकाव करे इससे टमाटर में कोई भी  रोग नहीं आएगा।  और आपको कम लगत में अधिक मुनाफा मिलेगा।  

तो दोस्तों  यह थी टमाटर की खेती , दवा कैसे बनाते है उसका छंटकाव कैसे करते है।  

  


No comments:

लोकप्रिय पोस्ट

विशेष रुप से प्रदर्शित पोस्ट

फूलगोभी की खेती कैसे की जाती है और खेती कब करे

 फूलगोभी की खेती के बारे में जानकारी    दोस्तों , आज हम बात करेंगे फूलगोभी की खेती की जिसमे हम आपको बताएँगे की फूलगोभी की खेती कैसे की जात...

Powered by Blogger.